Ticker

6/recent/ticker-posts

Header Ads Widget

Dekhun Jidhar Udhar hi Mere Shyam Ka Nazara By Sourabh Sharma

देखूं जिधर उधर ही,
मेरे श्याम का नजारा,
खाटू का श्याम बाबा,
लगता है सबको प्यारा,
बोलो बोलो जय श्री श्याम,
बोलो बोलो जय खाटू धाम।।



इस दर पे जो भी आया,

अरदास है लगाया,
झोली फैला के अपनी,
दुःख दर्द है सुनाया,
उसको मिला भरोसा,
हर लेता कष्ट सारा,
देखूँ जिधर उधर ही,
मेरे श्याम का नजारा,
खाटू का श्याम बाबा,
लगता है सबको प्यारा।।



किस्मत का लेख भाई,

क्या कोई जान लेगा,
है बुलंदी पे सितारा,
कब टूट कर गिरेगा,
गिरते को थामता है,
चमका दे फिर सितारा,
देखूँ जिधर उधर ही,
मेरे श्याम का नजारा,
खाटू का श्याम बाबा,
लगता है सबको प्यारा।।



विश्वास है ये दिल का,

वो साथी है हमारा,
हम प्रेमी सांवरे के,
सौभाग्य ये हमारा,
हर श्याम प्रेमी बोलो,
वो हारे का सहारा,
देखूँ जिधर उधर ही,
मेरे श्याम का नजारा,
खाटू का श्याम बाबा,
लगता है सबको प्यारा।।



जो मांगोगे मिलेगा,

अर्जी लगा के देखो,
एक बार सांवरे के,
दर पे तो आके देखो,
मिलता है डूबते को,
यहाँ तिनके का सहारा,
देखूँ जिधर उधर ही,
मेरे श्याम का नजारा,
खाटू का श्याम बाबा,
लगता है सबको प्यारा।।



देखूं जिधर उधर ही,

मेरे श्याम का नजारा,
खाटू का श्याम बाबा,
लगता है सबको प्यारा,
बोलो बोलो जय श्री श्याम,
बोलो बोलो जय खाटू धाम।।

Post a Comment

0 Comments